[Best] Patriotic Poem in Hindi for Youth – वो मेरा हिंदुस्तान नहीं।

patriotic poem in hindi

जिस देश में बहती गंगा मां नहीं
जहां वीर शहीदों वाला गांव नहीं
जहां धरती चिरे किसान नहीं
वो मेरा हिंदुस्तान नहीं , वो मेरा हिंदुस्तान नहीं ||

जहां सुबह सूर्य नमस्कार नहीं
जहां हिन्दू मुस्लिम में प्यार नहीं
जहां एक साथ आरती अज़ान नहीं
वो मेरा हिंदुस्तान नहीं , वो मेरा हिंदुस्तान नहीं ||

जहां धरती पुजी जाती ना हो
जहां कोई धर्म ना जाति हो
जहां बड़े बुजुर्गों की सम्मान नहीं
वो मेरा हिंदुस्तान नहीं , वो मेरा हिंदुस्तान नहीं ||

जहां नारी पवित्र सीता नहीं
जहां दसरथ जैसा पिता नहीं
जहां पुत्र मर्यादा परुषोत्तम राम नहीं
वो मेरा हिंदुस्तान नहीं , वो मेरा हिंदुस्तान नहीं ||

जहां वाणी आचरण शुद्ध नहीं
जहां उपदेश देते गौतम बुद्ध नहीं
जहां कण कण में भगवान नहीं
वो मेरा हिंदुस्तान नहीं , वो मेरा हिंदुस्तान नहीं ||

जहां की नारी लक्ष्मीबाई नहीं
जहां गली गली में राम साईं नहीं
जहां बच्चों बच्चों के जुबां पर “मेरा भारत महान नहीं”
वो मेरा हिंदुस्तान नहीं , वो मेरा हिंदुस्तान नहीं ||

शुभम कश्यप ✍✍

Treading

#Status

वो 🤼‍🚬♂जवानी🚶 ही 🤸🏻‍♂क्या❓जिसकी 👆🤼‍♀कोई 📖 कहानी ना ❌ हो.. वो👆🤷🏼‍♂ लड़की 👰🏻 ही क्या❓जिसके🧣😏 boyfriend😎 🤷🏻‍♀हम 😍 ना ❌ हो…😂😉

#Quotes

1. “किसी को चाहकर छोड़ देना तो आसान है, लेकिन किसी को छोड़कर भी चाहो तो पता चलेगा मोहब्बत किसे कहते है।” 2.

#Quotes

1. I can not find the word to explain how much having my dog is my life means to me, but I do know that without my dog my world would be more dark and empty. 2. Those are the very lucky people who have a dog waiting for them to come home every day.

More Posts