[Very] Sad Love Poem in Hindi (तुम वापस आओगे क्या ?)

sad love poem in hindi

Hey! here we are sharing a Sad Love Poem in Hindi read and share this Sad poem to your friends and some one. Explore your feeling with him/her by sharing this Emotional Sad Love Poem.

sad love poem in hindi
sad love poem in hindi

Sad love Poem

सुनो मैं प्यार का गीत भूल चुका हूं ,
मेरे कानो के पास आकर एक मधुर
संगीत सुनाओगे क्या ?

बोलो तुम वापस आओगे क्या ?

वो जो तुम मेरे हाथों को खींचकर
अपने सीने से लगाया करती थी ,
मेरे दिल के अगन बुझाओगे क्या ?

बोलो ना तुम वापस आओगे क्या ?

वो तेरा ज़ोर से लिपटना मुझसे ,
वो जो ठंडी हवाएं चलती थी ना ,
अब वो मुझे डंसती हैं जाना , सुनो
सावन की बरसात बन फिर से मुझे भिगाओगे क्या ?

बोलो ना तुम वापस आओगे क्या ?

सुनो तुम्हारे जाने से मेरी आंखें बेवजह
बरसने लगती थी , अब ये सुख चुकी है
तुम आके अपने प्यार के गुलों से , मेरी
दिल की बगिया मेहकाओगे क्या ?

बोलो तुम वापस आओगे क्या ?

वो जो तुम मेरे माथे को चूम के , आंखों
को चूमते थे ना , मेरे अंतर्मन में खलबली
मच जाती थी , अब ये बेजान पत्थर हो गए है
तुम अपने दिल की तपिश से इसे पिघलाओगे क्या ?

बोलो तुम वापस आओगे क्या ?

तुम्हे याद है वो तुम्हारा गिफ्ट जिसमें हम
दोनों का तस्वीर लगा हुआ है , उसे मैं किसी
संदूक में नहीं अपने दिल में छुपा के रखता हूं ,
मेरे दिल के बंद दरवाजे को फिर से

खटखटाने आओगे क्या ?


चुप क्यूं हो बोलो ना वापस आओगे क्या ?

तुम्हारे जाने से सिर्फ दिल ही नहीं टूटा
मेरी खूबसूरत ज़िन्दगी बेरंग हो गई है
वो हसीन वादियां , वो खुला आसमां
सब फीका लगता है , तुम प्यार के जुगनू बन
दिल के अंधियारा मिटाओगे क्या ?

बोलो तुम वापस आओगे क्या ?

सनम तुम्हे याद है वो दिन जब हम घंटों
बातें करते थे , एक दूसरे के आंखों के रस्ते
दिल में कैसे उतरते थे , मेरे सिर को अपने सीने
पर धरके फिर से धड़कने सुनाओगे क्या ?

बोलो ना हमदम तुम वापस आओगे क्या ?

तुम्हारे जाने का वजह अब तक ढूंढ़ रहा हूं मैं
अपनी ही सांसों से लगता है , अब उब रहा हूं मैं
वो स्कूल वाला दिन बहुत याद आता है
तुम अपनी टिफिन में फिर से मेरा प्रेमपत्र छुपाओगे क्या ?

बोलो ना ज़ालिम तुम वापस आओगे क्या ?

अब तुम आ ही रहे हो तो मेरी खुशियां भी लेते
आना , कबसे तुम्हारे पास ही छोड़ा था
और वो मेरा पाक मोहब्बत , जो शायद बेदाग
ना रहा , सुनो फिर से सज धज के मुझ पागल को
छलने आओगे क्या ?

बोलो तुम वापस आओगे क्या ?


बोल ना बेवफा मेरी यादों को कहां दफनाओगे
मेरी शांति , खुशियां और दिल कहां जलाओगे
ख़ुदग़र्ज़ अपनी चेहरे को खुद से कैसे छुपाओगे
बोल भी दो जाना तुम वापस कभी ना आओगे ||

तुम वापस कभी ना आओगे ||

शुभम कश्यप ✍✍

Read more:


Final Word:

We hope you like this sad love poem in hindi. If you really like so share this sad love poem to your Lovely person and friends.

If you share this so who found it is happy to reading a Lovely Sad Poem in simple Hindi Language.

Thanks to being here

Treading

#Status

वो 🤼‍🚬♂जवानी🚶 ही 🤸🏻‍♂क्या❓जिसकी 👆🤼‍♀कोई 📖 कहानी ना ❌ हो.. वो👆🤷🏼‍♂ लड़की 👰🏻 ही क्या❓जिसके🧣😏 boyfriend😎 🤷🏻‍♀हम 😍 ना ❌ हो…😂😉

More Posts